Wednesday, 19 September 2018

इंजीनियरिंग संस्थान में बौद्धिक संपदा अधिकार एवं प्लेगेरिज्म पर फैकल्टी डेवलपमेन्ट प्रोग्राम


उमानाथ सिंह अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी संस्थान वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय में टेकिप-३ के अन्तर्गत  बौद्धिक संपदा अधिकार एवं प्लेगेरिज्म विषयक पांच दिवसीय फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम आयोजन  20 से 24 सितंबर  तक होगा।  कार्यक्रम में ट्रिपल आईटी इलाहाबाद के भूतपूर्व प्रोफेसर आर सी त्रिपाठी और डॉ ए के पांडे द्वारा  व्याख्यान दिया  जाएंगा।  कोऑर्डिनेटर प्रोफेसर बी बी तिवारी ने बताया कि  इसमें इंजीनियरिंग संस्थान के समस्त शिक्षक प्रतिभाग करेंगे।   इस कार्यशाला में वर्तमान प्रतिस्पर्धा युग में आई पी आर   एवं उसके  योगदान, विभिन्न प्रकार के आई पी आर उनके महत्व एवं सार्वभौमिक ज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में उसके योगदान पर प्रकाश डाला जाएगा। पुस्तक शोध पत्र लेखन, कविता ,शिल्प, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर एवं कला प्रदर्शन इत्यादि  के लिए कॉपीराइट प्राप्त किए जाने के गुण सिखाए जाएंगे | डिजिटलीकरण के युग में कॉपीराइट एवं इंडस्ट्रियल डिजाइन बनाम कॉपीराइट पर व्याख्या होगी |

रोजगार क्षमता को  मापने के लिए हुई परीक्षा 

विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग संकाय में इंजीनियरिंग के  विद्यार्थियों  के  रोजगार क्षमता को  मापने के लिए 
टेस्ट का आयोजन किया गया। इस टेस्ट का आयोजन  एस्पायरिंग माइंड (ऍम कैट) एवं एन०पी०आई०यू० भारत सरकार के सौजन्य से टेकिप-3 प्रोग्राम के अंतर्गत किया गया। एस्पायरिंग माइंड  के कोऑर्डिनेटर मोहित ने विश्वविद्यालय के अवेद्यनाथ संगोष्ठी भवन में छात्र-छात्राओं को टेस्ट से सम्बंधित दिशा निर्देश दिये I इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स एव  इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के छात्रों का २ घंटे का टेस्ट हुआ I जिसमें  फिजिक्स, गणित व डिपार्टमेंट के विषयों के प्रश्न के साथ ही मानसिक दक्षता के प्रश्न पूछे गए  I ये टेस्ट टेकनिकल एजुकेशन क्वालिटी इम्प्रूवमेंट प्रोग्राम-III में चयनित हुए देश के सभी अग्रणी संस्थानों में होना है I  प्रथम बार पूर्वांचल विश्वविद्यालय ने इसका आयोजन किया।   इस टेस्ट का उद्देश्य अपने संसथान में  इंजीनियरिंग की पढाई करने वाले छात्रो में रोजगार की क्षमता को मापना एव बढ़ाना है I परीक्षा 5  दिनों तक चलेगी जिसमें  इंजीनियरिंग के सभी वर्ष के विद्यार्थी भाग लेंगे। इसके लिए  नोडल अधिकारी डॉ रजनीश भास्कर एवं डा०सत्यम उपाध्याय को इस टेस्ट का कोऑर्डिनेटर नियुक्त किया है।  

Tuesday, 18 September 2018

पंडित दीनदयाल उपाध्याय शोधपीठ स्थापना समारोह का आयोजन 22 सितम्बर को


                                                                        पीयू में आएंगे उप मुख्यमंत्री 
वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय  में  पंडित दीनदयाल उपाध्याय शोधपीठ  स्थापना  समारोह का आयोजन 22 सितम्बर को किया गया है। संकाय भवन में स्थापित शोधपीठ में  पंडित दीनदयाल उपाध्याय की मूर्ति का अनावरण भी होगा। इसके साथ ही  इस अवसर पर  समसामयिक परिदृश्य  में एकात्म मानववाद विषयक एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी  का आयोजन  महंत  अवैद्यनाथ संगोष्ठी भवन में किया गया है। 
इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री एवं उच्च शिक्षा मंत्री प्रो दिनेश शर्मा होंगे। नगर विकास राज्यमंत्री गिरीश चंद्र यादव एवं  अरुंधति वशिष्ठ अनुसन्धान पीठ के राष्ट्रीय संयोजक डॉ चंद्र प्रकाश सिंह कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि भाग लेंगे।
कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए कुलपति प्रो डॉ राजा राम यादव ने शिक्षकों कर्मचारियों  को जिम्मेदारी सौंपी है। मीडिया प्रभारी डॉ मनोज मिश्र ने बताया कि जो शिक्षक व विद्यार्थी पोस्टर के माध्यम से अपने शोध का प्रस्तुतीकरण कर सकते है। कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए प्रो मानस पांडेय को अध्यक्ष, डॉ राज कुमार सोनी को संयोजक एवं डॉ सन्तोष कुमार को सह संयोजक  बनाया गया है।

Friday, 14 September 2018

जनमानस को एक सूत्र में पिरो सकती है हिंदी भाषा


विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग द्वारा हिंदी दिवस के अवसर पर संकाय भवन के कांफ्रेंस हाल में विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डॉ मनोज मिश्र ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी के इस युग में हिंदी के प्रति युवा पीढ़ी का लगाव कम होना दुखद है। भारत मेंं आम जनमानस को अगर एक सूत्र में कोई भाषा पिरो सकती है तो वह हिंदी भाषा है।
डॉ अवध बिहारी सिंह ने कहा कि  अन्य भाषाओं की पुस्तकों का हिंदी में बड़े स्तर पर अनुवाद नहीं हो रहा है जिससे दूसरे भाषा का ज्ञान हिंदी भाषियों को सही तरीके से नहीं मिल पा रहा है। अनुवादकों की एक नई फौज तैयार करने की आवश्यकता है।
डॉ सुनील कुमार ने कहा कि हिंदी हमें जोड़ना सिखाती है अंग्रेजी को हम अपने साथ जोड़कर ही हिंदी का विकास कर सकते हैं।
जनसंचार विभाग के शिक्षक डॉ दिग्विजय सिंह राठौर में कि आज विश्व के तमाम विश्वविद्यालयों में हिंदी की पढ़ाई हो रही है। इंटरनेट में हिंदी को वैश्विक ऊंचाइयों तक पहुंचाया है।
संचालन छात्र प्रभात शर्मा ने किया। इस अवसर पर प्रतीक पांडे, सुरेश यादव, संदीप कुमार चौहान, बलराम यादव, राहुल गुप्ता एवं उपेंद्र पांडे ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

बीए एलएल.- बी. (आनर्स) पंचवर्षीय एकीकृत पाठ्यक्रम में प्रवेश प्रारम्भ


              पूर्वांचल विश्वविद्यालय में शुरू हुआ  नया पाठ्यक्रम 
     30 सितम्बर तक  आवेदन की अंतिम तिथि  

 पूर्वान्चल विश्वविद्यालय, जौनपुर  परिसर में बीए एलएल.-बी. (आनर्स) पंचवर्षीय एकीकृत  पाठ्यक्रम  (इंटीग्रेटेड पाठ्यक्रम) सत्र 2018-19 में सीधे प्रवेश की प्रक्रिया प्रारम्भ की गयी है।  इच्छुक अभ्यर्थी विश्वविद्यालय की वेबसाइट से फॉर्म डाउनलोड कर 30 सितम्बर तक प्रवेश ले सकते है। प्रवेश के लिए  प्रवेश   सेल में अपने  समस्त शैक्षिक मूल प्रमाण-पत्रों की स्वप्रमाणित छायाप्रति, दो रंगीन पासपोर्ट  साईज के  फोटोग्राफ एवं  सामान्य व पिछड़े वर्ग के लिए दो सौ रूपये एवं अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए  एक सौ पचास रूपए विश्वविद्यालय कोष  में  जमा करना होगा। यह धनराशि  वित्त अधिकारी के नाम बने डिमांड ड्राफ्ट के साथ  भी फार्म जमा कर सकते है। प्रवेश के लिए फॉर्म विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया है।  किसी भी कार्य दिवस में दिनांक 30 सितम्बर तक सुबह दस  बजे  से सायं पांच  बजे के  बीच प्रवेश सेल में  प्रवेश फार्म भरकर प्रवेश ले सकते  है।
पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए विद्यार्थी को   इण्टरमीडिएट उत्तीर्ण होना चाहिए। वहीं  अनारक्षित वर्ग के विद्यार्थियों के लिए न्यूनतम 45 प्रतिशत   अन्य पिछड़ा वर्ग हेत 42  प्रतिशत   एवं अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति वर्ग  हेत  40 प्रतिशत अंक  निर्धारित है। 
स्नातक उत्तीर्ण विद्यार्थी भी इस पाठ्यक्रम में  प्रवेश ले  सकते है। पहले आने वाले  विद्यार्थियों को पहले प्रवेश दिया जायेगा। पाठ्यक्रम का प्रति सेमेस्टर शिक्षण शुल्क बीस हजार रूपये निर्धारित किया गया है। प्रवेश सम्बंधित समस्त  जानकारी विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है।  

Thursday, 13 September 2018

स्व उमानाथ सिंह को किया नमन

स्वर्गीय उमानाथ सिंह की पुण्यतिथि पर वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय परिसर के  उमानाथ सिंह अभियांत्रिकी संस्थान में स्थित  उनकी प्रतिमा  पर पुष्प अर्पित कर कुलपति प्रो डॉ राजाराम यादव एवं सांसद के पी सिंह ने उन्हें नमन किया.
इस अवसर पर प्रोफेसर बीबी  तिवारी, कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल, वित्त अधिकारी एमके सिंह, प्रो ए के श्रीवास्तव, डॉ मनोज मिश्र, डॉ संदीप सिंह, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

Tuesday, 11 September 2018

स्वामी विवेकानंद के चरित्र को आत्मसात करें विद्यार्थी - कुलपति


विश्व धर्म सम्मेलन शिकागो में दिए संबोधन की 125वीं वर्षगांठ  पर हुआ कार्यक्रम  

विश्वविद्यालय परिसर में स्वामी विवेकानंद का विश्व धर्म सम्मेलन शिकागो में दिए संबोधन की 125वीं वर्षगांठ पर जनसंचार विभाग में विचार गोष्ठी आयोजित की गई। इसके पूर्व सरस्वती सदन में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो डॉ राजाराम यादव ने अनुप्रयुक्त सामाजिक विज्ञान एवं मानविकी संकाय के विद्यार्थियों को स्वामी विवेकानंद पर केंद्रित पुस्तक व्यक्तित्व का विकास वितरित किया। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद आज से 125 वर्ष पूर्व विश्वबंधुत्व की छवि को पूरे विश्व के सामने प्रस्तुत किया था। विद्यार्थियों को स्वामी जी के चरित्र को आत्मसात करना चाहिए। 
संकाय अध्यक्ष डॉ मनोज मिश्र ने कहा कि स्वामी विवेकानंद हर युवा के लिए प्रेरणा स्रोत हैं. शिकागो संबोधन से स्वामी जी ने पूरे दुनिया के लोगों को अपना मुरीद बना लिया। आज के दौर में स्वामी जी द्वारा कही गई बातें उतनी ही प्रासंगिक है जितनी उस समय थीं.

जनसंचार विभाग के शिक्षक डॉ सुनील कुमार ने स्वामी विवेकानंद के कृतित्व व व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम के संयोजक डॉ दिग्विजय सिंह राठौर ने विद्यार्थियों को स्वामी जी के शिकागो में दिए संबोधन की पढ़ कर सुनाया। विचार गोष्ठी में आदित्य, सौम्या, महेंद्र, बलराम एवं सुरेश ने भी अपने विचार व्यक्त किये। विवेकानंद केंद्रीय पुस्तकालय परिसर में स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर शिक्षकों एवं विद्यार्थियों ने माल्यार्पण किया।कार्यक्रम में वित्त अधिकारी एम के सिंह, प्रो मानस पांडेय, डॉ के एस तोमर, डॉ जान्हवी श्रीवास्तव, अन्नू त्यागी, डॉ मनोज पांडेय आदि मौजूद रहे।

Monday, 10 September 2018

वाद- विवाद प्रतियोगिता में पूजा प्रथम, अमन द्वितीय


विश्वविद्यालय के संकाय भवन स्थित कांफ्रेंस हाल  में सोमवार को 'सोशल मीडिया देश के युवाओं  के लिए वरदान से ज्यादा अभिशाप साबित हो रहा है' विषयक वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।
इस प्रतियोगिता में हेमवंती नंदन बहुगुणा स्मृति  समिति एवं लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा 18 सितंबर को होने वाले अंतरविश्वविद्यालयीय वाद विवाद के लिए 02 विद्यार्थियों का चयन किया गया। वाद विवाद प्रतियोगिता में टीडी  कॉलेज  की छात्रा पूजा शुक्ला ने प्रथम एवं बीटेक कंप्यूटर साइंस के छात्र अमन कुमार गुप्ता ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया।
प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने सोशल मीडिया का  युवाओं के व्यवहार, विचार, मनोरंजन, सामाजिक- पारिवारिक संबंधों पर पड़ने वाले प्रभावों के विविध आयामों पर अपनी बात रखी। विद्यार्थियों द्वारा जहाँ सोशल मीडिया से  दूर के लोगों से आत्मीयता और पास के लोगों से बढ़ती दूरी पर सवाल उठाएं वहीं कुछ ने सोशल मीडिया को युवाओं के लाभकारी तो कुछ ने विनाशकारी बताया।   
अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रोफेसर अजय द्विवेदी ने वाद-विवाद प्रतियोगिता में प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन किया। उन्होंने  सोशल मीडिया और युवा विषय के विभिन्न आयामों पर अपनी बात रखी। प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में टीडी पीजी कॉलेज के डॉ अजय दुबे, डॉ सौरभ पाल एवं  डॉ सुनील कुमार शामिल रहे। विषय प्रवर्तन जनसंचार विभाग के शिक्षक डॉ दिग्विजय सिंह राठौर ने किया। संचालन समन्वयक डॉ मनोज पांडे ने किया। इस अवसर पर डॉ जान्हवी श्रीवास्तव,अन्नू  त्यागी, डॉ मुनिंदर सिंह समेत विभिन्न विभागों के विद्यार्थी गण मौजूद रहें।

Saturday, 8 September 2018

त्यौहार प्रदूषण के लिए नहीं, खुशियों के लिए मनाएं -प्रोफेसर अर्चना


विश्वविद्यालय के पर्यावरण विज्ञान विभाग के द्वारा संकाय  भवन के कॉन्फ्रेंस हॉल में उत्सव एवं प्रदूषण विषयक विशेष व्याख्यान का आयोजन किया गया। बतौर वक्ता अंबेडकर महाविद्यालय  दीक्षाभूमि, नागपुर की प्रोफेसर अर्चना मेश्राम  ने कहा कि त्योहारों को खुशियों के लिए मनाएं न कि प्रदूषण फैलाने के लिए।  अगली  पीढ़ी को साफ सुथरा पर्यावरण देना हमारा कर्तव्य है। हमारे देश में दीपावली के समय वायु प्रदूषण और और मूर्ति विसर्जन के कारण जल प्रदूषण की समस्या बड़े स्तर पर सामने आ रही है। उन्होंने कहा कि पटाखे अशांति फैलाने के साथ तमाम प्रकार के रोगों का कारण बनते जा रहे हैं।  
उन्होंने कहा कि  त्यौहारों की उत्पत्ति  बहुत ही सात्विक तरीके से मनाये  जाने की सुनिश्चितता  थी । जिसमें मानवता  एवं प्रज्ञा शीलता की प्रधानता थी  परंतु  पाश्चात्य दर्शन के कारण  भारत जैसे देश में विभिन्न तरह की कुरीतियों का प्रादुर्भाव सहज देखने को मिल रहा है जिसमें त्यौहार की वास्तविकता अपने मूल रूप से परे हो गई है।  मंदिरों की घंटियां, अनेक वृक्षों का संरक्षण,अनेक नदियों का संरक्षण , हमारे त्यौहार की प्रमुखता रही है।  अपभ्रंश त्यौहार से  ध्वनि प्रदूषण  वायु प्रदूषण जल प्रदूषण मृदा प्रदूषण जैसी चीजों का सामना करना पड़  रहा है।  

उन्होंने महाराष्ट्र की सती व्रत कथा का उल्लेख करते हुए चिंता जाहिर की पहले महिलाएं बरगद के पेड़ को रक्षा बांधती  थी। आज बरगद की टहनियों को घरों में ले जाकर लोग पूजा कर रहीं  है।  स्वागत विज्ञान संकाय की अध्यक्ष प्रो वंदना राय एवं धन्यवाद डॉ सुधीर उपाध्याय ने व्यक्त किया।  इस अवसर पर प्रोफेसर विलासराव तभाने, डॉ प्रदीप कुमार, डॉ सुधांशु यादव, डॉ प्रभाकर समेत विद्यार्थी मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन डॉ0  विवेक कुमार पांडेय ने किया।

Friday, 7 September 2018

एनएसएस से कर सकते है सामाजिक परिवर्तन - कुलपति

 
कार्यक्रम अधिकारियों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन 


जौनपुर. वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के अवैद्यनाथ संगोष्ठी भवन में शुक्रवार  को राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारियों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। 
उद्घाटन सत्र में कुलपति प्रोफेसर डॉ  राजाराम यादव ने कार्यक्रम अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना के माध्यम से हम सामाजिक परिवर्तन ला सकते हैं। हम अपने आस-पास के गांव का चित्र बदलने की क्षमता रखते हैं।  उन्होंने कहा कि पूर्वांचल विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना की गतिविधियों की चर्चा पूरे देश में है।  राज्य संपर्क अधिकारी डॉक्टर अंशुमाली शर्मा ने कहा कि कार्यक्रम अधिकारियों को स्मार्ट बनने की जरूरत है। अपने स्वयं सेवक सेविकाओं में ऊर्जा का संचार करते रहे। क्षेत्रीय निदेशक डॉ अशोक कुमार श्रोती  ने राष्ट्रीय सेवा योजना के विविध आयामों पर अपनी बात रखी। वहीं  पूर्व राज्य संपर्क अधिकारी डॉ एस बी सिंह ने इकाई गठन से लेकर कार्यक्रमों को बेहतर तरीके से संचालित करने के गुर सिखाए। 
साक्षरता निकेतन लखनऊ के पूर्व समन्वयक धर्म सिंह ने कहा कि राष्ट्र कोई एक सीमित भूखंड नहीं है। राष्ट्र में रहने वालों से ही राष्ट्र है। उठो जागो और श्रेष्ठता को प्राप्त करो।राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम समन्वयक राकेश यादव ने अतिथियों का स्वागत करते हुए एनएसएस की गतिविधियों को विस्तार पूर्वक बताया।इसके साथ ही अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में आजमगढ़, मऊ, गाजीपुर, जौनपुर जनपद के महाविद्यालयों के 200 से अधिक कार्यक्रम अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया। 
कार्यक्रम का संचालन  डॉ अजय विक्रम सिंह ने किया।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल, वित्त अधिकारी एन के सिंह, डॉ मनोज मिश्र,  युवा अधिकारी अयोध्या प्रसाद,प्रशिक्षक नवनीत वर्मा,अमन, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ उदयभान यादव  समेत तमाम कार्यक्रम अधिकारी मौजूद रहे।  

पांच वर्षीय बीए एलएलबी पाठ्यक्रम में प्रवेश इसी सत्र से


पूर्वांचल विश्वविद्यालय परिसर में प्रारम्भ होगा पाठ्यक्रम 


विश्वविद्यालय परिसर में प्रस्तावित पांच  वर्षीय बीए एलएलबी पाठ्यक्रम की शुरुआत इसी सत्र  से प्रस्तावित है। पाठ्यक्रम  की मान्यता के लिए बार काउंसिल ऑफ इंडिया की टीम ने शुक्रवार को विश्वविद्यालय का दौरा किया। बार काउंसिल ऑफ इंडिया की तरफ से गठित छ सदस्यीय टीम के  चेयरमैन मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्याय मूर्ति वीरेंद्र दत्त ध्यानी रहे। कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने समिति के सभी सदस्यों का विश्वविद्यालय की तरफ से  स्वागत किया। उन्होंने टीम के सदस्यों को विश्वविद्यालय से जुड़ी तमाम जानकारियां दी। समिति ने संकाय भवन स्थित विधि संकाय के एक- एक कक्ष का निरीक्षण किया एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए।इसके साथ ही विवेकानंद केंद्रीय पुस्तकालय का अवलोकन किया। जहां पाठ्यक्रम से सम्बंधित पुस्तकों, शोध पत्रिकाओं आदि की जानकारी हासिल की। पाठ्यक्रम के समन्वयक  प्रोफेसर अजय प्रताप सिंह ने समिति के सदस्यों को आवश्यक जानकारी दी। बार कॉउन्सिल ऑफ़ इंडिया से मान्यता मिलने के बाद विश्वविद्यालय इसी सत्र से पांच  वर्षीय बीए एलएलबी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आवेदन आमंत्रित करेगा। पाठ्यक्रम के लिए 120 सीटें प्रस्तावित है। 

इस अवसर पर कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल, वित्त अधिकारी एम के सिंह,  प्रो मानस पांडेय, प्रो अजय द्विवेदी,प्रो अशोक कुमार  श्रीवास्तव,  डॉ मनोज मिश्र, डॉ सुरजीत यादव, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ राज कुमार सोनी, डॉ के एस  तोमर, डॉ पुनीत धवन ,डॉ मनीष गुप्ता, डॉ मनोज पांडेय, संजय श्रीवास्तव,अशोक सिंह ,संजय शर्मा ,श्याम श्रीवास्तव,सुशील प्रजापति  समेत तमाम लोग मौजूद  रहे। 

Wednesday, 5 September 2018

पूर्वांचल विश्वविद्यालय में धूमधाम से मना शिक्षक दिवस 

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय परिसर के विभिन्न विभागों में शिक्षक दिवस धूमधाम से मनाया गया।  भारत रत्न सर्वपल्ली राधाकृष्णन को शिक्षकों विद्यार्थियों ने नमन किया।
जनसंचार विभाग में विद्यार्थियों ने अपने शिक्षकों के साथ परिसर में पौधरोपण किया। विभागाध्यक्ष डॉ मनोज मिश्र ने शिक्षक दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि शिक्षकों का अस्तित्व ही विद्यार्थियों से है। विभाग के शिक्षक डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ  अवध बिहारी सिंह, डॉ रुश्दा आज़मी, डॉ सुनील कुमार ने भी अपने विचार व्यक्त किए। व्यावहारिक मनोविज्ञान विभाग अध्यक्ष प्रो अजय प्रताप सिंह ने भारत रत्न सर्वपल्ली राधाकृष्णन के कृतित्व एवं व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला।संकाय भवन के कान्फ्रेंस हाल में बायो टेक्नोलॉजी विभाग के विद्यार्थियों द्वारा आयोजित कार्यक्रम में संकाय अध्यक्ष प्रोफ़ेसर वंदना राय समेत विभाग के शिक्षकों ने विद्यार्थियों को संबोधित किया। विभाग के विद्यार्थियों द्वारा विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए।
उमानाथ सिंह इंजीनियरिंग संस्थान एवं फार्मेसी संस्थान में भी विद्यार्थियों ने बड़े धूमधाम से शिक्षक दिवस मनाया। प्रो बी बी तिवारी ने इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग में विद्यार्थियों को सम्बोधित किया। फार्मेसी संस्थान में आयोजित शिक्षक दिवस समारोह में स्वच्छता शपथ ग्रहण कराया गया। साथ ही विद्यार्थियों ने केरला बाढ़ पीड़ितों के लिए धन एकत्रित भी किया। इंजीनियरिंग संकाय के अध्यक्ष प्रोफेसर ए के श्रीवास्तव ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षक एक मोमबत्ती के समान होता है जो पूरे समाज में रोशनी फैलाने का काम करता है। इस अवसर पर  डॉ राजकुमार, डॉ संतोष कुमार, डॉ अमरेंद्र सिंह, डॉ राजीव कुमार आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन विनय वर्मा ने किया।




Thursday, 30 August 2018

राज्यपाल के हाथों 41 खिलाड़ी, 10 टीम कोच, टीम प्रबंधक हुए सम्मानित


पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर, राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय,फैज़ाबाद एवं  महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, वाराणसी के संयुक्त तत्वावधान में  बुधवार को राजभवन लखनऊ केगांधी सभागार में  राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर आयोजित खिलाडी सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में कुलाधिपति एवं राज्यपाल उत्तर प्रदेश राम नाईक ने पूर्वांचल विश्वविद्यालय के 41खिलाड़ियों को स्वर्ण, रजत एवं कांस्य पदक से सम्मानित किया। इसके साथ ही 10 टीम प्रशिक्षक और टीम प्रबंधक भी सम्मानित हुए। पूर्वांचल विश्वविद्यालय के खिलाड़ियों को आज लगातार पाँचवी बार राजभवन मेंसम्मानित किया गया है।
इस अवसर पर अपने सम्बोधन में प्रदेश के राज्यपाल एवं विश्वविद्यालय के कुलाधिपति राम नाईक ने कहा कि विजयी होने के लिए खिलाड़ियों को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। खिलाड़ियों की सफलता के पीछे उनके शिक्षकों का हाथ  है। प्रगति के लिए मनोयोग एवं टीम वर्क की जरूरत है।और गति से आगे बढ़ने की प्रक्रिया अनवरत जारी रहनी चाहिए।उन्होंने कहा कि आज मेजर ध्यानचंद  का जन्मदिवस है। हाकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद ने  तीन बार  ओलंपिक में  जीत दर्ज कराकर देश का मान बढ़ाया। आज का यह दिन संकल्प का दिन है और इस दिन कुछ और पाने के लिए संकल्प लेना होगा।
उन्होंने अपनी पुस्तक चरैवेति चरैवेति की चर्चा करते हुए कहा कि आने वाले समय में जर्मन, फारसी, अरबी  और सिंधी भाषा में भी यह पुस्तक शीघ्र उपलब्ध होगी।उन्होंने कहा कि जो चलता है उसका भाग्य चलने लगता है आपको भी जगत बंधु बनने के लिए सदा चलना पड़ेगा।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर डॉ राजाराम यादव ने कहा कि क्रीडा के क्षेत्र में पूर्वांचल विश्वविद्यालय ने पूर्वी अंचल, अंतर विश्वविद्यालयीय तथा अखिल भारतीय स्तर पर आयोजित प्रतियोगिताओंमें अपेक्षित गौरवपूर्ण स्थान प्राप्त किया है । पूर्व वर्ष 2017  में भी अखिल भारतीय विश्वविद्यालयीय स्तर पर हमारे विश्वविद्यालय के खिलाड़ियों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में 29 पदक हासिल किए थे इस वर्ष पदकोंकी संख्या बढ़कर 41 हो गई है।उन्होंने कहा कि क्रीड़ा के क्षेत्र में आपकी सफलता संसाधनों का समायोजन नहीं है बल्कि खेल भावनाओं की ज्योति को प्रज्जवलित  कर सफल एवं स्वस्थ जीवन शैली की एक विधा है यह पूरे राष्ट्र एवं मानव को एक साथ पिरोती है।महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलपति डॉक्टर टी एन सिंह ने सम्मानित होने वाले  खिलाड़ियों का संक्षिप्त  परिचय प्रस्तुत किया।

राम मनोहर लोहिया विश्वविद्यालय फैजाबाद के कुलपति  प्रो  मनोज दीक्षित ने आभार व्यक्त किया।विश्वविद्यालय के कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल ने खेल परिषद की वार्षिक प्रगति आख्या प्रस्तुत की। समारोह की शुरुआत मां सरस्वती की प्रतिमा पर पुष्पांजलि एवं दीप प्रज्वलित कर की गई।
विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने राष्ट्रगान प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के बाद राज्यपाल के साथ खिलाड़ियों शिक्षकों एवं अधिकारियों की ग्रुप फोटोग्राफी हुई। समारोह का संचालन जनसंचार विभाग के अध्यक्ष  डॉ मनोजमिश्र ने किया।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव कुलाधिपति हेमंत राव, अध्यक्ष खेलकूद डॉ वीरेंद्र विक्रम यादव,वित्त अधिकारी एम के सिंह, डॉ राजीव सिंह, डॉ समर बहादुर सिंह, डॉ विजय सिंह, डॉ राकेश यादव, प्रो बी बी तिवारी, प्रो बी डी शर्मा, प्रो वंदना राय, प्रो मानस पांडेय, प्रो अजय प्रताप सिंह, सचिव खेलकूद डॉ शेखर सिंह, संयुक्त सचिव डॉ विजय तिवारी, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, कार्य परिषद, वित्त समिति एवं खेलकूद परिषद के सदस्यगण समेत तमाम लोग शामिल रहे।

इन्हें मिला सम्मान 

सम्मानित होने वाले  खिलाडियों में अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय क्रिकेट महिला में पूर्वांचल की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। जिसमें पूनम खेमनार,ज्योति गोस्वामी,शेफाली साहू,कौम्या तिवारी,पूजा निमवात,बबिता मीना,पूनम मौर्या,पंकुल तोमर,आरजू सिंह,साधना यादव,चांदनी प्रजापति,सरिता यादव,शानवी अनिल भावना,प्रिया यादव,अंजली चौहान शामिल है जिन्हें राज्यपाल ने स्वर्ण पदक देकर सम्मानित किया । टीम प्रबन्धक अशोक कुमार सिंह,भानू प्रताप शर्मा, टीम कोच,गुलाब निषाद, सहायक टीम कोच सम्मानित हुए। 
अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय प्रतियोगिता हॉकी पुरुष में  द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर टीम के खिलाड़ी गुरमीत सिंह,अनिल कमार बिन्द्रा,राज कुमार पाल,मनीष कुमार,दीपक सिंह,शुभम सिंह,देवब्रत सिंह,धर्मेन्द्र कुमार,ओम प्रकाश पाल,रामराज राम,शिवानन्द मौर्य,आदित्य यादव,मुकेश गुप्ता,सिद्धार्थ सिंह,कमलेश यादव,अंकित नाथ,प्रभाकर सिंह,अमित राजभर एवं रजनीश कुमार सिंह, टीम प्रबन्धक,इन्द्रदेव, टीम कोच,डॉ0 नागेन्द्र पाठक, सहायक टीम कोच को सम्मानित किया गया ।
अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय भारोत्तोलन (पु0/म0) प्रतियोगिता में गौरी पाण्डेय को प्रथम,राव बिलाल को द्वितीय अवं दीपक यादव को तृतीय स्थान मिलने पर सम्मानित किया जायेगा। इनके टीम प्रबंधक डॉ0 राजेश सिंह,डॉ0 संजय राय बतौर टीम कोच सम्मानित हुए।
अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय वुशू पुरुष में विनीत कुमार यादव को द्वितीय,धर्मेन्द्र कुमार यादव को तृतीय,शैलेन्द्र कुमार यादव को तृतीय,सुशील यादव को तृतीय स्थान पाने पर सम्मानित किया गया। इनके मोहन चन्द्र पाण्डेय टीम प्रबन्धक व  शकील अहमद टीम कोच भी सम्मानित हुए।

Monday, 27 August 2018

राजभवन में सम्मानित होने के लिए खिलाड़ी हुए रवाना


कुलसचिव ने बस को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

पूर्वांचल विश्वविद्यालय के 41 खिलाड़ी राजभवन में 29 अगस्त को होंगे सम्मानित  

विश्वविद्यालय के 41 खिलाड़ी और 10 टीम कोच,  टीम प्रबंधक  29 अगस्त को राजभवन लखनऊ में आयोजित होने वाले खिलाड़ी सम्मान समारोह में राज्यपाल राम नाईक के हाथों सम्मानित होंगें। सोमवार को कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल ने खिलाड़ियों की बस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने खिलाड़ियों टीम कोच एवं टीम कोच को बधाई दी है।कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल ने कहा कि विश्वविद्यालय के खिलाड़ियों ने विश्वविद्यालय का मान राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ाया है इसके लिए विश्वविद्यालय को उन पर गर्व है।
खेल दिवस के अवसर पर इस बार राजभवन में वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी एवं राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के खिलाड़ियों को सम्मानित करने के लिए संयुक्त रुप से सम्मान समारोह का आयोजन किया गया है।
इस अवसर पर डॉ मनोज मिश्रा, डॉ वीरेंद्र विक्रम यादव, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर,डॉ विजय तिवारी, डॉ के एस तोमर, संजय श्रीवास्तव,रजनीश सिंह, अशोक सिंह समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

41 खिलाड़ी, 10 टीम कोच, टीम प्रबंधक होंगे सम्मानित

इस वर्ष  सम्मानित होने वाले  खिलाडियों में  अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय प्रतियोगिता हॉकी पुरुष में  द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर टीम के खिलाड़ी गुरमीत सिंह,अनिल कमार बिन्द्रा,राज कुमार पाल,मनीष कुमार,दीपक सिंह,शुभम सिंह,देवब्रत सिंह,धर्मेन्द्र कुमार,ओम प्रकाश पाल,रामराज राम,शिवानन्द मौर्य,आदित्य यादव,मुकेश गुप्ता,सिद्धार्थ सिंह,कमलेश यादव,अंकित नाथ,प्रभाकर सिंह,अमित राजभर एवं रजनीश कुमार सिंह, टीम प्रबन्धक,इन्द्रदेव, टीम कोच,डॉ0 नागेन्द्र पाठक, सहायक टीम कोच को सम्मानित किया जायेगा।
अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय क्रिकेट महिला में पूर्वांचल की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।  जिसके खिलाडी भी सम्मानित होंगे। जिसमें पूनम खेमनार,ज्योति गोस्वामी,शेफाली साहू,कौम्या तिवारी,पूजा निमवात,बबिता मीना,पूनम मौर्या,पंकुल तोमर,आरजू सिंह,साधना यादव,चांदनी प्रजापति,सरिता यादव,शानवी अनिल भावना,प्रिया यादव,अंजली चौहान शामिल है। टीम प्रबन्धक अशोक कुमार सिंह,भानू प्रताप शर्मा, टीम कोच,गुलाब निषाद, सहायक टीम कोच भी सम्मानित होंगे। 
अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय भारोत्तोलन (पु0/म0) प्रतियोगिता में गौरी पाण्डेय को प्रथम,राव बिलाल को द्वितीय अवं दीपक यादव कोतृतीय स्थान मिलने पर सम्मानित किया जायेगा। इनके टीम प्रबंधक डॉ0 राजेश सिंह,डॉ0 संजय राय बतौर टीम कोच सम्मानित होंगे। 
अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय वुशू पुरुष में विनीत कुमार यादव को द्वितीय,धर्मेन्द्र कुमार यादव को तृतीय,शैलेन्द्र कुमार यादव को तृतीय,सुशील यादव को तृतीय स्थान पाने पर सम्मानित किया जाएगा। इनके मोहन चन्द्र पाण्डेय टीम प्रबन्धक व  शकील अहमद टीम कोच भी होंगे। 

Friday, 24 August 2018

पत्रकारिता व्‍यावसायिक होने के बावजूद जनसरोकार को देती है अहमियत --प्रोफेसर ओमप्रकाश सिंह

विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग में गुरुवार को पत्रकारिता एवं सामाजिक सरोकार विषयक विशेष व्याख्यान का आयोजन किया गया। मदन मोहन मालवीय हिंदी पत्रकारिता संस्थान महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के निदेशक प्रोफेसर ओमप्रकाश सिंह ने बतौर वक्ता  कहा कि आज की पत्रकारिता व्यवसायिक होने के बावजूद जनसरोकार को अहमियत देती है। आम से लेकर खास आदमी पत्रकारिता करने वालों से उम्मीद लिए बैठा है। नए दौर की चुनौतियों से निपटने हुए पत्रकार को आम जन भावना के अनुरूप कार्य करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि सामाजिक मीडिया के बढ़ते चलन से पत्रकारिता करने वालों को एक नई चुनौती का सामना करना पड़ रहा है । उन्होंने कहा कि भारत में हिंदी के समाचारपत्र अहिन्दीभाषी क्षेत्रों में भी प्रकाशित हो रहे है। पत्रकारिता में शब्द और लेखन शैली के माध्यम से आप अच्छे लेखक और साहित्यकार भी बन सकते हैं।  आज जिसके पास शब्द है और हिंदी का अच्छा ज्ञान है उसके लिए हिंदी भाषा और अन्य क्षेत्रों में समाचार पत्र में रोजगार के अच्छे अवसर हैं।
जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डॉक्टर मनोज मिश्र ने कहा कि पत्रकारिता ने अपने सामाजिक सरोकार के कारण ही एक अलग छवि समाज में बनाई है।
व्यावहारिक मनोविज्ञान विभाग के अध्यक्ष डॉ अजय प्रताप सिंह ने स्वागत किया। इस अवसर पर डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ अवध बिहारी सिंह, डॉ सुनील कुमार, डॉ रुश्दा आज़मी, पंकज सिंह समेत विद्यार्थी गण मौजूद रहे।

केरल आपदा में मदद को आगे आया विश्वविद्यालय


पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो डॉ राजाराम यादव ने केरल में आई प्राकृतिक आपदा से जूझ रहे लोगों के लिए नेक पहल की है।  विश्वविद्यालय के सभी  शिक्षक, कर्मचारी एवं  अधिकारी केरल वासियों की मदद करने के लिए उनके साथ एक स्वर में अपनी आवाज बुलंद किए हैं।विश्वविद्यालय के  शिक्षक  एवं कर्मचारी संघ ने अपना एक दिन का वेतन आपदा कोष में भेजने का निर्णय लिया है।
उक्त हेतु कुलपति सभागार में मंगलवार को आपात बैठक बुलाई गई।  कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल ने बताया कि केरल में आई प्राकृतिक आपदा में हम सब को अंदर से झकझोर दिया है।  पूरा देश एक परिवार है और अगर परिवार का कोई व्यक्ति कष्ट में है तो इसमें हम सभी को एकजुटता दिखाने की जरूरत है। इसी के मद्देनजर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ एवं कर्मचारी संघ ने अपना एक दिन का वेतन आपदा कोष में भेजने का निर्णय लिया । इस सम्बन्ध उन्होंने बताया कि परिसर शिक्षक संघ  एवं विश्वविद्यालय परिसर कर्मचारी संघ ने इस आशय  का पत्र मुझे दे दिया है। इस अवसर पर वित्त अधिकारी एमके सिंह , प्रो वीडी शर्मा , प्रो मानस पांडेय ,प्रो अजय द्विवेदी,प्रो अविनाश पाथर्डीकर ,डॉ मनोज मिश्र ,प्रो अजय प्रताप  सिंह ,प्रो अशोक श्रीवास्तव ,प्रो वंदना राय,डॉ संतोष कुमार ,डॉ राजकुमार सोनी , अमलदार यादव ,स्वतंत्र कुमार,डॉ केएस तोमर ,संजय श्रीवास्तव ,रहमतुल्लाह आदि उपस्थित रहे। 

Thursday, 23 August 2018

छात्रावास में पूर्व प्रधानमंत्री को दी गई श्रद्धांजलि

पूर्वांचल विश्वविद्यालय के द्रौपदी एवं मीराबाई महिला छात्रावास में छात्राओं ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जी को भारत माँ की रंगोली बनाकर श्रद्धांजलि अर्पित की।विद्यार्थियों ने अपनी स्वरचित कविताओं के माध्यम से अटल बिहारी बाजपेई जी को याद किया । इसके साथ ही उन्होंने उनके आदर्श पथ पर चलने का प्रण किया।


चीफ वार्डन डॉ राजकुमार सोनी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेई जी ने भारत को एक नई दिशा दी। वह सदैव युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत रहे। इस अवसर पर वार्डन डॉ जान्हवी श्रीवास्तव एवं अनु त्यागी समेत छात्राएं उपस्थित रही।

Tuesday, 21 August 2018

सफलता के लिए टीम वर्क जरुरी

विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग संस्थान में चल रहे इंडक्शन प्रोग्राम के तहत  बीटेक प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों ने विभिन्न गतिविधियों में प्रतिभाग किया। मंगलवार को विद्यार्थी योग के विभिन्न आयामों से परिचित हुए।  
विक्टोरिया ट्रेनिंग फाउंडेशन ,चेन्नई की निदेशक   डॉ छाया सिंह द्वारा इंजीनयरिंग संस्थान के सभागार में प्राकृतिक  चिकित्सा से रोगों के  उपचार के बारे में बताया गया।उन्होंने कहा कि  जब तक हमारा तनाव रहित मन और हिंसा रहित समाज नहीं होगा तो हम इस संसार में शांति नहीं प्राप्त कर सकेंगे। विषय विशेषज्ञ निदेशक सी बी आई टी ,हैदराबाद डॉ रामचंद्रन रेड्डी  ने कहा कि  विद्यार्थियों को  अपने जीवन में निराश नहीं होना चाहिए । प्रतिस्पर्धा के इस युग में जहां कदम  कदम पर बहुत रुकावटें है। वहां हम कैसे अपने को कैसे प्रेरित कर  सकते है। 
मानव संसाधन और कॉरपोरेट ट्रेनिंग ,हैदराबाद की  डॉ अनुराधा धारा  ने कॉरपोरेट इथिक्स के बारे में बताया ।कहा कि हमें अपने प्रोफेशनल लाइफ में क्या सही है ? क्या सही नहीं है ? इसका फैसला अपने अंतरात्मा से करना चाहिए । हमें अगर सफल बनना है तो टीम वर्क में काम करना पड़ेगा।  अगर अपने अहंकार को काम में लाएंगे तो टीम वर्क में काम नहीं कर पाएंगे और सफल नहीं हो पाएंगे। इस अवसर पर शैलेश प्रजापति,संजय श्रीवास्तव ,रीतेश बरनवाल,,तुषार,अजय,वंदना,विशाल,पूनम आदि रहे । यह  कार्यक्रम टी आई क्यू आई पी – 3  के कोऑर्डिनेटर प्रो बी बी तिवारी के संयोजकत्व में आयोजित हुआ। 

Saturday, 18 August 2018

पीयू में अटल जी को दी गई भावपूर्ण श्रद्धांजलि



मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं, लौटकर आऊंगा कूंच से क्यों डरूँ


भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी जी के महाप्रयाण पर विश्वविद्यालय के महंत अवैद्यनाथ संगोष्ठी भवन में शनिवार की शाम श्रद्धाजंलि सभा का आयोजन किया गया । 

श्रद्धांजलि सभा में कुलपति प्रोफ़ेसर डॉ राजाराम यादव ने अटल जी को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि  भारत रत्न अटल जी ने सिद्ध कर दिया कि राजनीति में काम करते हुए भी सबका प्रिय बना जा सकता है।  अपने विपक्षियों को भी अपना प्रशंसक बना लिया था।  कुलपति ने कहा कि उन्होंने  स्कूल में पढ़ाई के समय होने वाले नाटकों में अटल जी का किरदार निभाया था  । अटल जी से हुई अपनी मुलाकातों की भी चर्चा की।उन्होंने विद्यार्थियों से अटल जी गुणों को सीखने की सलाह दी। 

प्रो बी बी तिवारी ने कहा कि युग पुरुष अटल जी अकेले ऐसे शख्स थे जो भारत को निरूपित करते थे। प्रबंध अध्य्यन संकाय के अध्यक्ष डॉ वी डी शर्मा ने कहा कि अटल जी ने देश के विकास को एक नई दिशा दी।जनसंचार विभाग की छात्रा सौम्या तिवारी ने अटल जी कविता मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं, लौटकर आऊंगा कूंच से क्यों डरूँ सुना कर नमन किया।
डॉ के एस तोमर ने कहा कि हमने एक हीरा खोया है जो सदैव हमें याद आते रहेंगे। 
श्रद्धांजलि सभा में अटल जी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर लोगों ने श्रद्धा सुमन अर्पित  किया।संचालन  जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डॉ मनोज मिश्र ने किया।


 इस अवसर पर कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल, प्रो अजय द्विवेदी, प्रो मानस पांडेय,प्रो अजय प्रताप सिंह, प्रो वंदना राय, प्रो राम नारायण, डॉ संदीप सिंह, डॉ रसिकेश, डॉ संजीव गंगवार, राकेश यादव, संतोष कुमार, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ महेंद्र यादव ,डॉ अवध बिहारी सिंह, डॉ पुनीत धवन, राजीव कुमार,अमलदार यादव, समेत विश्वविद्यालय के शिक्षक, कर्मचारी, विद्यार्थी मौजूद रहे।

पूर्वांचल विश्वविद्यालय के 41 खिलाड़ी राजभवन में 29 अगस्त को होंगे सम्मानित



- विश्वविद्यालय   खिलाड़ी सम्मान समारोह की तैयारियों में जुटा 


वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के 41 खिलाड़ी और 10 टीम कोच, प्रबंधक  29 अगस्त को राजभवन लखनऊ में आयोजित होने वाले खिलाड़ी सम्मान समारोह में राज्यपाल राम नाईक के हाथों सम्मानित होंगें। सम्मान समारोह के लिए विश्वविद्यालय ने तैयारियां में तेजी कर दी है।  कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने खिलाड़ी सम्मान समारोह को सफलतापूर्वक संपन्न कराने के लिए आयोजन समिति के सदस्यों के साथ बैठक कर दिशा निर्देश दिए।  सम्मानित होने वाले  खिलाडियों में  अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय प्रतियोगिता हॉकी पुरुष में  द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर टीम के खिलाडी 
गुरमीत सिंह,अनिल कमार बिन्द्रा,राज कुमार पाल,मनीष कुमार,दीपक सिंह,शुभम सिंह,देवब्रत सिंह,धर्मेन्द्र कुमार,ओम प्रकाश पाल,रामराज राम,शिवानन्द मौर्य,आदित्य यादव,मुकेश गुप्ता,सिद्धार्थ सिंह,कमलेश यादव,अंकित नाथ,प्रभाकर सिंह,अमित राजभर एवं रजनीश कुमार सिंह, टीम प्रबन्धक,इन्द्रदेव, टीम कोच,डॉ0 नागेन्द्र पाठक, सहायक टीम कोच को सम्मानित किया जायेगा।
अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय क्रिकेट महिला में पूर्वांचल की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।  जिसके खिलाडी भी सम्मानित होंगे। जिसमें 
पूनम खेमनार,ज्योति गोस्वामी ,शेफाली साहू,कौम्या तिवारी,पूजा निमवात,बबिता मीना,पूनम मौर्या,पंकुल तोमर,आरजू सिंह,साधना यादव,चांदनी प्रजापति,सरिता यादव,शानवी अनिल भावना,प्रिया यादव,अंजली चौहान शामिल है। टीम प्रबन्धक अशोक कुमार सिंह,भानू प्रताप शर्मा, टीम कोच,गुलाब निषाद, सहायक टीम कोच भी सम्मानित होंगे। 
अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय भारोत्तोलन (पु0/म0) प्रतियोगिता में गौरी पाण्डेय को प्रथम,राव बिलाल को द्वितीय अवं दीपक यादव कोतृतीय स्थान मिलने पर सम्मानित किया जायेगा। इनके टीम प्रबंधक डॉ0 राजेश सिंह,डॉ0 संजय राय बतौर टीम कोच सम्मानित होंगे। 
अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालयीय वुशू पुरुष में विनीत कुमार यादव को द्वितीय,धर्मेन्द्र कुमार यादव को तृतीय,शैलेन्द्र कुमार यादव को तृतीय,सुशील यादव को तृतीय स्थान पाने पर सम्मानित किया जाएगा। इनके मोहन चन्द्र पाण्डेय टीम प्रबन्धक व  शकील अहमद टीम कोच भी सम्मनित होंगे।

शनिवार को हुई बैठक में वित्त अधिकारी एम के सिंह, कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल,खेल सचिव शेखर सिंह, डॉ मनोज मिश्रा,डॉ राज कुमार, डॉ रामाश्रय शर्मा, देवेंद्र कुमार सिंह,विपिन चंद अस्थाना, डॉ अन्नू त्यागी, डॉ जान्हवी श्रीवास्तव, डॉ के एस तोमर, डॉ संजय श्रीवास्तव, रजनीश सिंह, मोहन चद्र पांडेय, राजेश सिंह, अशोक सिंह  व अरुण सिंह मौजूद रहे। 

पीयू में स्वतंत्रता दिवस मनाया गया

                                                                     

विश्वविद्यालय में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने सरस्वती सदन पर झंडारोहण किया। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि हम सभी के लिए राष्ट्र धर्म सर्वोपरि है। भारत के नागरिक होने के कारण हम जहां भी जैसी स्थिति में  हो  सदैव राष्ट्र भावना के अनुरुप कार्य करना चाहिए। 
इस अवसर पर वित्त अधिकारी एम के सिंह, कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल, प्रो बी बी तिवारी, प्रो अजय प्रताप सिंह, प्रो अविनाश पाथर्डीकर, प्रो वंदना राय, डॉ राजकुमार सोनी, डॉ संतोष कुमार डॉ मनोज मिश्र, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ पुनीत धवन, डॉ के एस तोमर समेत तमाम लोग मौजूद रहे।
कुलपति ने 15 कर्मचारियों को किया सम्मानित

विश्वविद्यालय में बेहतर कार्य संस्कृति विकसित करने के उद्देश्य से स्वतंत्रता  दिवस के अवसर पर कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने विश्वविद्यालय के 15 कर्मचारियों को पुरस्कृत किया। कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल ने बताया कि सम्मानित होने वाले कर्मचारियों ने प्रदत्त कर्तव्य एवं दायित्वों को पूर्ण  जिम्मेदारी एवं निष्ठा पूर्वक निर्वहन किया। उन्हें विश्वविद्यालय में उल्लेखनीय योगदान के लिए प्रशस्ति पत्र एवं पांच हजार  रुपए दिया गया. सम्मानित  होने वाले कर्मचारियों में एम एम भट्ट, रहमतुल्लाह, संजय श्रीवास्तव, रमेश पाल, श्याम श्रीवास्तव, रजनीश सिंह, ओपी गुप्ता, सुशील प्रजापति, मोहम्मद अफसर, सितेश श्रीवास्तव, इसरार, केदार सिंह नेगी, कृष्ण कवल पांडे, सुरेश राम एवं मानजीत यादव रहे।

परिसर में हुआ पौधरोपण

मीराबाई छात्रावास में कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने जामुन का पेड़ लगाकर पौधरोपण कार्यक्रम की शुरुआत की इस अवसर पर उन्होंने कहा कि जो पौधे लगाए जा रहे हैं उसकी रक्षा करना अधिक महत्वपूर्ण है। विश्वविद्यालय के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने मुक्तांगन में पौधरोपण किया इसके साथ ही विश्वविद्यालय परिसर में विभिन्न स्थानों पर विद्यार्थियों द्वारा पौधे लगाए गए। छात्रावास में विद्यार्थियों द्वारा  हाथों में तख्तियां लिए
पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया. महिला छात्रावास की वार्डन डॉक्टर जान्हवी श्रीवास्तव एवं अनु त्यागी ने छात्राओं का उत्साहवर्धन किया।राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक राकेश यादव एवं विनय वर्मा की देखरेख में पौधरोपण कार्यक्रम संपन्न हुआ।


Tuesday, 14 August 2018

विद्यार्थियों ने किया योगाभ्यास



विश्वविधालय के एकलव्य स्टेडियम में इंडक्शन प्रोग्राम के तहत मंगलवार को बीटेक प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों ने योगाभ्यास किया।  विद्यार्थियों ने वॉलीबॉल , बैडमिंटन , खो – खो आदि खेलो में भी अपना प्रतिभाग किया । वहीं बीटेक  प्रथम वर्ष के कंप्यूटर साइंस , इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी विभाग के विद्यार्थियों को इंडस्ट्रियल विजिट के तहत सतहरिया गए। वहां  विद्यार्थियों ने लघु उद्योगों जैसे ऑयल इंडस्ट्री, न्योत्रिला रिफाइन, पी सी आई, पेस्ट कंट्रोल ,नेट वायर के बारे में जानकारी ली । इंजीनियरिंग राज्य विश्वविदयालय,इलाहाबाद के  प्रो प्रवीण प्रकाश  ने विद्यार्थियों  को अंग्रेजी भाषा में पत्राचार  तथा उद्बोधन के विषय पर चर्चा की । डॉ राजकुमार सोनी ने विद्यार्थियों को  बेसिक  गणित के बारे में ,  जानकारी दी । टी क्यू आई पी फेस – 3 के  कोऑर्डिनेटर प्रो बी बी तिवारी  के निर्देशन में विद्यार्थियों ने तकनीकी ज्ञान प्राप्त किया। इस अवसर पर  श्री सौरभ कुमार ,  सत्यम उपाध्याय ,वंदना सिंह ,जया शुक्ला, अजय मौर्य एवं  विशाल आदि उपस्थित रहे। 








एकता और समरसता का सन्देश, विद्यार्थियों ने बनाई मानव श्रृंखला

हमारा घर आजायब घर बना है, सपोले आस्तीनों में पलें हैं....... 


पूर्वांचल विश्वविद्यालय में मंगलवार को स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर सामाजिक एकता और समरसता का सन्देश देने के लिए विद्यार्थियों ने  मानव श्रृंखला बनाई । जनसंचार विभाग द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में  मुख्य द्वार से संकाय भवन तक दोनों तरफ विद्यार्थियों और शिक्षकों ने हाथ पकड़ कर राष्ट्र एकता के लिए संकल्पित हुए। 
अनुप्रयुक्त सामाजिक विज्ञान एवं मानविकी संकाय  के अध्यक्ष डॉ मनोज मिश्र ने विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है। पूरी दुनिया की नजर हमारे देश के हर घटनाक्रम पर है। ऐसे में एक सशक्त राष्ट्र के लिए आपसी भाईचारा और सौहार्द हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए। सबसे बड़ा राष्ट्र वंदन हमारी आपसी तालमेल और प्रेम में है। स्वतंत्रता  दिवस की वर्षगांठ पर देश की एकता के लिए हम सभी एकजुट हो। उन्होंने कविता के माध्यम से देश की वर्तमान स्थिति  पर विद्यार्थियों को सोचने पर  विवश किया।  उन्होंने कहा कि  हमारा घर आजायब घर बना है, सपोले आस्तीनों में पलें हैं। हमारा देश है  खूनों  नहाया,  यहां के लोग नाखूनों फलें हैं। मानव श्रृंखला में जनसंचार , व्यावहारिक मनोविज्ञान,माइक्रोबायोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री एवं पर्यावरण विज्ञान विभाग के विद्यार्थी शामिल हुए। इस अवसर पर डॉ अजय प्रताप सिंह, डॉ एसपी तिवारी, डॉ अवध बिहारी सिंह, डॉ सुनील कुमार, डॉ जान्हवी  श्रीवास्तव, डॉ मनोज पांडे, अन्नू त्यागी, सुधांशु यादव, विवेक पांडे, ऋषि श्रीवास्तव, डॉ प्रभाकर सिंह  आदि  मौजूद रहे। कार्यक्रम का संयोजन डॉक्टर दिग्विजय सिंह राठौर ने किया।



Friday, 10 August 2018

21 दिवसीय अभिप्रेरण कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ



टेकिप-3 कार्य कलापों के परफॉरमेंस ऑडिट करने  पहुंचे प्रोफेसर के०वी० गंगाधरन 


जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के उमानाथ सिंह अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी  संस्थान के विश्वेश्वरैया सभागारमें  बी० टेक प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं हेतु तीन सप्ताह तक चलने वाले अभिप्रेरण कार्यक्रम की शुरुआत हुईI  कार्यक्रम में  एन० आई० टी०  सूरथकल के प्रोफेसर के०वी० गंगाधरन ने छात्रों को सफलता के अनेक गुर सिखाये I उन्होंने कहा कि छात्रों के जीवन में  मानवीय मूल्यों की बहुत बड़ी भूमिका होती है। इस  बात को आत्मसात करने  आवश्यकता है। इस अवसर पर पूर्व कुलपति प्रोफेसर पी०सी० पातंजलि  व्यक्तिव विकास पर  विद्यार्थियों से बात चीत की। 

 इसके पूर्व उमानाथ सिंह अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी  संस्थान में टेकिप-3 कार्य कलापों के परफॉरमेंस ऑडिट हेतु एन० आई० टी० सूरथकल, कर्नाटका से  प्रोफेसर के०वी० गंगाधरन द्वारा ऑडिट के प्रथम दिन शिक्षकों, विद्यार्थियों एवं  टेकिप कोर टीम के सदस्यों से गहन विचार विमर्श किया। कार्यक्रम के प्रारंभ में टेकिप-3 के संस्थान के समन्वयक प्रोफेसर बी० बी० तिवारी ने  संस्थान की  प्रगति आख्या एवं टेकिप-3 के कार्य कलापों  को  प्रस्तुत किया I  इस अवसर पर डीन प्रोफेसर ए० के ० श्रीवास्तव ने   स्वागत  कियाI    प्रोफेसर गंगाधरन ने  शिक्षकों, छात्र-छात्राओं से  वार्ता कर टेकिप गतिविधियों की जानकारियां हासिल की I ज्ञातव्य है कि प्रोफेसर गंगाधरन अपने इस त्रिदिवसीय दौरे में टेकिप के कार्यान्वयन के विविध आयामों पर जानकारी प्राप्त करेंगेI द्वितीय सत्र में प्रोफेसर गंगाधरन नें दस्तावेजों का अवलोकन किया  तथा प्रगति पर संतुष्टि जाहिर कीI  प्रोफेसर गंगाधरन नें प्रसन्नता व्यक्त किया कि संस्थान में प्लेसमेंट, वर्कशॉप, इंटर्नशिप, इंडस्ट्रियल विजिट, ट्रेनिंग आदि  सराहनीय है। अंतिम दिन प्रोफेसर गंगाधरन द्वारा संस्थान का भ्रमण, विभागाध्यक्षों से वार्ता एवं अपनी रिपोर्ट तैयार की जायेगीI इन समस्त गतिविधियों में प्रोफेसर ए० के ० श्रीवास्तव, डा० रजनीश भास्कर, डा० संतोष कुमार, डा० सौरभ पाल, डा० संजीव गंगवार, डा० कमलेश पाल, डा० अमरेन्द्र सिंह समेत अन्य शिक्षक शिक्षिकायें उपस्थित थेI

रोवर्स रेंजर्स ने राष्ट्र निर्माण के लिए युवाओं को तैयार किया- कुलपति

परिसर में  पौधारोपण कार्यक्रम की शुरुआत

विश्वविद्यालय के रोवर्स रेंजर्स  भवन में शुक्रवार को कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने पौधरोपित  कर विश्वविद्यालय परिसर में  पौधारोपण कार्यक्रम की शुरुआत की। पौधरोपण कार्यक्रम में रोवर्स रेंजर्स    के कैडेटों ने आंवला, नीम, बरगद, पीपल आदि के सौ  से अधिक पौधे रोपित किए। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने कहा कि पौधे रोपित करने से ज्यादा महत्वपूर्ण उनकी रक्षा करना है।   वृक्षों के बिना मानव जीवन संभव नहीं है।  उन्होंने कहा कि रोवर्स रेंजर्स  ने राष्ट्र निर्माण के लिए युवाओं को तैयार किया है।  संस्थापक  लार्ड बेडेन पावेल ने  जो शुरुआत की थी आज वह वट वृक्ष का रूप ले चुका है।  उन्होंने कहा कि हमारे छात्र हर क्षेत्र का नेतृत्व कर रहें है। रोवर्स रेंजर्स   के समन्वयक डॉ जगदेव ने कहा कि पौधरोपण अभियान से हर महाविद्यालय को जोड़ा जाएगा।  इसके साथ ही आने वाले समय में रोवर्स रेंजर्स  की इकाइयों में भी बढ़ोतरी की जाएगी।
राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक राकेश यादव ने बताया कि शासन के निर्देश पर पौधरोपण की शुरुआत हो गई है जिसके अंतर्गत दस हजार पौधे विश्वविद्यालय एवं  महाविद्यालय में रोपित किए जाएंगे। कुलपति प्रोफेसर राजाराम यादव, कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल, वित्त  अधिकारी एम के सिंह, डॉ के एस तोमर को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। इस अवसर पर डॉ मनोज मिश्र, हीरालाल यादव,डॉ  दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ प्रतिमा सिंह, डॉ मनोज तिवारी, डॉ शशि मिश्रा,डॉ विजय तिवारी, डॉ अनुराग मिश्र, संजय श्रीवास्तव, भरत कुंवर समेत विभिन्न जनपदों के रोवर्स-रेंजर्स के पदाधिकारी व कैडेट मौजूद रहे।

Friday, 27 July 2018

कर्मचारी के निधन पर पीयू में शोक सभा

विश्वविद्यालय में माली के पद पर कार्यरत सभाराम की मृत्यु पर प्रशासनिक भवन के बाहर शुक्रवार को शोक सभा आयोजित की गई। जिसमें दो मिनट का मौन रख मृतक आत्मा की शांति की प्रार्थना की गई।
कुलपति डॉक्टर प्रोफेसर राजाराम यादव ने कहा कि सभा राम कर्मठ कर्मचारी थे ईश्वर इस दुख की घड़ी में उनके परिवार को शक्ति प्रदान करें।देवकली निवासी सभा राम की मृत्यु गुरुवार को बीमारी के कारण हुई थी। शोक सभा में वित्त अधिकारी एम के सिंह, कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल, डॉ के एस तोमर, रहमतुल्ला समेत तमाम कर्मचारी मौजूद रहें।

पीयू के महाविद्यालयों को 344 इकाइयां हुई आवंटित

विश्वविद्यालय से संबंध महाविद्यालयों के लिए शासन ने पहले चरण में 344 इकाइयों का आवंटन किया है। शैक्षणिक सत्र की शुरुआत में एनएसएस इकाइयों के आवंटन से इसकी गतिविधियां बेहतर तरीके से संचालित हो पाएंगीं। इसमें 54000 विद्यार्थी जुड़ेंगे।
राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक राकेश यादव ने बताया कि पहले चरण में जिन महाविद्यालयों में इकाइयों का आवंटन हुआ है वहां एनएसएस की गतिविधियां समय से और प्रभावी तरीके से प्रारंभ होंगी। जिसके अंतर्गत 1 अगस्त से 15 अगस्त तक स्वच्छता पखवाड़ा चलाया जाएगा। इसके साथ ही बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, नदी संरक्षण, पर्यावरण संरक्षण, वृक्षारोपण जैसे मुद्दों पर भी कार्यक्रम आयोजित होंगे। शासन के निर्देश पर राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवक स्वयं  गांव में जाकर ग्रामीणों को शौचालय प्रयोग के लिए जागरूक भी करेंगे।
शीघ्र ही अन्य महाविद्यालयों में भी राष्ट्रीय सेवा योजना की इकाइयों के आवंटन की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। गौरतलब है कि पूर्वांचल विश्वविद्यालय में देश में सबसे अधिक राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवक सेविकाएं है। राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा बापू बाजार जैसी योजना संचालित होती है जिसमें पूरे देश में पूर्वांचल विश्वविद्यालय एक अलग छवि बनाई है।

Wednesday, 25 July 2018

राम नाईक जी का व्यक्तित्व हमारे शिक्षकों व विद्यार्थियों के लिए प्रेरणा का स्रोत

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने गुरुवार को क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ के के तिवारी को उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक द्वारा लिखित पुस्तक चरैवेति चरैवेति भेंट की।
कुलपति प्रोफेसर डॉक्टर राजाराम यादव ने क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी से विभिन्न मुद्दों पर चर्चा भी की। उन्होंने चरैवेति चरैवेति पुस्तक पर चर्चा करते हुए कहा कि  राम नाईक जी का व्यक्तित्व हमारे शिक्षकों व विद्यार्थियों के लिए प्रेरणा का स्रोत है उन्होंने बहुत ही परिश्रम से यह मुकाम हासिल किया है कैंसर जैसी दुसाध्य बीमारी को मात दी और नई ऊर्जा के साथ काम किया। उन्होंने सदैव दूसरों को अवसर दिया है। आज भी वह इस उम्र में 12- 12 घंटे काम करते हैं जो हमारे लिए ऊर्जा एवं प्रेरणा के स्रोत है।

कुलपति ने परिसर के शोध संस्थानों का किया दौरा


विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ  राजाराम यादव ने मंगलवार  को परिसर में नवनिर्मित प्रोफेसर राजेंद्र सिंह(रज्जू भैया) भौतिकीय  विज्ञान एवं शोध संस्थान का निरीक्षण किया। परिसर में शीघ्र ही बेसिक साइंस की कक्षाएं संचालित होनी है जिसमें एमएससी भौतिक,रसायन,गणित एवं अनुप्रयुक्त भूगर्भ विज्ञान की कक्षाएं चलेंगी। जिसके  लिए उच्च स्तर की सुविधाएं इस संस्थान में उपलब्ध कराई जाएंगी।कुलपति प्रोफेसर डॉ  राजाराम यादव ने भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला अहमदाबाद भारत सरकार के वैज्ञानिक डॉक्टर अनिल डी शुक्ला के साथ प्रयोगशाला की स्थापना,शिक्षण पद्धति एवं अनुसंधान से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की. प्रो  शुक्ला ने विभिन्न विषयों पर अपनी राय दी.इसके साथ ही संकाय भवन  में स्थापित होने वाले पंडित दीनदयाल उपाध्याय शोध संस्थान का भी कुलपति ने निरीक्षण किया।बायो टेक्नोलॉजी विभाग के मशरूम उत्पादन एवं शोध केंद्र एवं माइक्रोबायोलॉजी विभाग की प्रयोगशालाओं में कुलपति ने विद्यार्थियों से बातचीत की।
इस अवसर पर कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल,वित्त अधिकारी एमके सिंह,प्रो मानस पांडे,प्रो रामनारायण, प्रो राजेश शर्मा, डॉ मनोज मिश्र, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर आदि मौजूद रहे।  

भेंट की पुस्तक 
कुलपति प्रो डॉ राजाराम यादव ने  भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला अहमदाबाद भारत सरकार के वैज्ञानिक डॉक्टर अनिल डी शुक्ला को उत्तर प्रदेश के राज्यपाल द्वारा लिखित पुस्तक चरैवेति चरैवेति  भेंट की ।

Wednesday, 4 July 2018

खिलाड़ी सम्मान समारोह के लिए कुलपतियों की हुई बैठक

29 अगस्त को राजभवन लखनऊ में आयोजित होगा समारोह

तीन विश्वविद्यालय के खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर के खेलों में प्रदर्शन के लिए होंगे सम्मानित


राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर 29 अगस्त को विश्वविद्यालय के  खिलाड़ियों को सम्मानित करने के लिए राज भवन लखनऊ में खिलाड़ी सम्मान समारोह का आयोजन होगा। जिसमें वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी, राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय फैजाबाद के खिलाड़ी सम्मानित होंगे।पूर्वांचल विश्वविद्यालय के खिलाड़ी पिछले 4 वर्षों से राज भवन लखनऊ में खेल दिवस के अवसर पर राज्यपाल के हाथों सम्मानित होते आ रहे हैं।
खेल दिवस के अवसर पर आयोजित होने वाले खिलाड़ी सम्मान समारोह के लिए विश्वविद्यालय के शिक्षक अतिथि गृह में बुधवार को पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलपति प्रो टी एन सिंह एवं राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मनोज दीक्षित ने बैठक कर खिलाड़ी सम्मान समारोह के विभिन्न बिंदुओं पर विस्तार पूर्वक चर्चा की।

पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉक्टर राजाराम यादव ने कुलपतिद्वय को कार्यक्रम की रूप रेखा बताई। राजभवन में सम्मानित होने वाले खिलाड़ियों, टीम प्रबंधकों एवं कोच की सूची एवं व्यवस्था  पर चर्चा हुई। पिछले बार खिलाड़ी सम्मान समारोह के अवसर पर पूर्वांचल एवं महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के  खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर के खेलों में प्रदर्शन करने पर सम्मानित हुए थे। इस बार राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के खिलाड़ी भी राष्ट्रीय स्तर की प्रतिस्पर्धा  में स्थान प्राप्त किए हैं। 
बैठक में वित्त अधिकारी एम के सिंह, कुलसचिवद्वय  सुजीत कुमार जायसवाल, प्रो एस एन शुक्ला,डॉ मनोज मिश्र, डॉ बृजेश सिंह, डॉ के एस तोमर, डॉ संतोष कुमार, रजनीश सिंह, अशोक सिंह  मौजूद रहे। 

Wednesday, 20 June 2018

ध्यान का उद्देश्य है समस्त कल्पनाओं से मुक्ति


अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस  


जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के मुक्तांगन में  अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाए गया. बतौर मुख्य अतिथि आचार्य डॉ राजीव भगवन  ने  कहा कि ध्यान के समय हम कल्पनाओं में डूब जाते है, नई  कल्पनाओं को जन्म देने लगते है जबकि ध्यान का उद्देश्य है समस्त  कल्पनाओं से मुक्ति । उन्होंने कहा कि मन को वश में करने की बात अवैज्ञानिक है। मन को वश में करने की  बात करने वाले वास्तव में मन को नहीं जानते।डॉ भगवन ने दैनिक जीवन में सरल तरीकें से योग के तरीकों को बताया। योग दिवस के अवसर पर योग आचार्य अमित  आर्य ने कॉमन प्रोटोकॉल  के तहत योगाभ्यास करवाया। उन्होंने कहा कि आज का अभ्यास प्रतिदिन करने से जीवन परिवर्तित हो सकता है। 
कुलपति प्रोफेसर डॉक्टर राजाराम यादव  ने  मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह और अंगवस्त्रम भेंट किया। इस अवसर पर कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल,डॉ वी  डी शर्मा, डॉ मनोज मिश्र, डॉ संतोष कुमार, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ अवध बिहारी सिंह, डॉ जान्हवी श्रीवास्तव, डॉ के एस तोमर, एम  एम  भट्ट, डॉ संजय श्रीवास्तव,अशोक सिंह, रजनीश  सिंह, सुशील प्रजापति समेत विश्वविद्यालय के शिक्षक, कर्मचारी, विद्यार्थी एवं क्षेत्रवासियों ने  प्रतिभाग किया.